Top 10 Best Romantic Shayari

पहली  मोहब्बत थी और  हम दोनों ही बेबस,
वो ज़ुल्फ़ें सँभालते रहे और मैं खुद को।

मेरे हाथों की लकीरों में समाने वाले कैसे छीनेंगे तुझे मुझसे ज़माने वाले।

रुका हुआ है अज़ब
धूप-छाँव का मौसम,
गुजर रहा है कोई दिल से बादलों की तरह

Click Here

रिश्ते किसी से कुछ यूँ निभा लो,
की उसके दिल के सारे गम चुरा लो,
इतना असर छोड़ दो किसी पर अपना,
के हर कोई कहे हमें भी अपना बना लो..

तुम्हे छुआ तो दिसम्बर में प्यास लगने लगी,
तुम्हारा जिस्म का मौसम तो जून जैसा था

हम भी अब मोहब्बत के गीत गाने लगे हैं,
जब से वो हमारे ख्वाबों में आने लगे हैं.

हमको चाहते होंगे और भी बहुत लोग,
लेकिन मुझे तो सिर्फ मोहब्बत अपनी मोहब्बत से है.

अपनी हाथो की उंगलियों को ज़रा सा दिल पर क्या रखा,
तेरी यादो की धड़कन धड़कने लगी.

तुम मिल गए तो मुझ से नाराज है खुदा,
कहता है कि तू अब कुछ माँगता नहीं है।

न जाने किस तरह का इश्क कर रहे हैं हम,
जिसके हो नहीं सकते उसी के हो रहे हैं हम।

Read More

Click Here